Circuit Fundamentals And Basic Electronics
लोगों की राय

बी एस-सी - एम एस-सी >> परिपथों के सिद्धान्त तथा इलेक्ट्रॉनिकी

परिपथों के सिद्धान्त तथा इलेक्ट्रॉनिकी

डॉ. हरि प्रकाश सिन्हा

प्रकाशक : राम प्रसाद पब्लिकेशन्स प्रकाशित वर्ष : 2018
पृष्ठ :260
मुखपृष्ठ : पेपरबैक
पुस्तक क्रमांक : 2511
आईएसबीएन :9789383385867

Like this Hindi book 0

बी.एस-सी. प्रथम वर्ष-तृतीय प्रश्न-पत्र भौतिक विज्ञान

उत्तर प्रदेश के विश्वविद्यालयों के लिए नवीन एककीकृत पाठ्यक्रमानुसार बी.एस-सी. प्रथम वर्ष-तृतीय प्रश्न-पत्र भौतिक विज्ञान

विषय-सूची

परिपथों के सिद्धान्त तथा इलेक्ट्रॉनिकी

1. परिवर्ती धाराएँ...1-42
Varying Currents
परिवर्ती धाराएँ, प्रतिरोध तथा प्रेरकत्व युक्त परिपथ में धारा की वृद्धि, प्रतिरोध तथा प्रेरकत्व युक्त परिपथ में धारा का क्षय, L-R परिपथ में धारा की वृद्धि तथा धारा-क्षय में ऊर्जा, परिपथ के टूटने पर स्वप्रेरित विद्युत् वाहक बल, प्रतिरोध द्वारा संधारित्र का आवेशन, प्रतिरोध में होकर संधारित्र का विसर्जन,C-R प्रतिरोध में संधारित्र के आवेशन तथा विसर्जन में ऊर्जा, क्षरण विधि से उच्च प्रतिरोध का मापन, प्रतिरोध द्वारा संधारित्र का विसर्जन प्रेरकत्व तथा संधारित्र युक्त परिपथ में धारा, वैद्युत दोलनों की व्याख्या. प्रतिरोध तथा प्रेरकत्व युक्त परिपथ में संधारित्र का आवेशन L-C-R परिपथ, प्रतिरोध तथा प्रेरकत्व के द्वारा संधारित्र का विसर्जन,गुणता कारक।
2. एसी सेतु...43-49
AC Bridges
एसी सेतु, मैक्सवेल का प्रेरकत्व सेतु, मैक्सवेल का LC सेत.धारित्र का मापन, डि-सॉटी सेतु, वीन सेतु,शीयरिंग सेतु ।
3. वैद्युत नेटवर्क...50-62
Electrical Networks
वैद्युत नेटवर्क,थैवनिन प्रमेय, नार्टन प्रमेय,अध्यारोपण प्रमेय।
4. अर्द्ध-चालक...63-84
Semiconductors
प्रस्तावना, ठोस पदार्थों में ऊर्जा बैंड,चालन के प्रति बैंड का व्यवहार, इलेक्ट्रॉनों द्वारा चालन, विवर या होल की अवधारणा, आन्तर या शुद्ध अर्द्धचालक ऊष्मीय सन्तुलन में इलेक्ट्रॉन तथा विवर सांद्रता, फर्मी स्तर; संयोजकता बैंड में विवरों की सांद्रता. फर्मी ऊर्जा स्तर, अशुद्धियुक्त बाह्य अर्द्धचालक, बहुसंख्यक तथा अल्पसंख्यक आवेश वाहक,दाता ग्राही स्तर, गतिशीलता तथा चालकता।
5. P-N संघिडायोड ... 85-98
P-N Junction Diode
प्रस्तावना, P-N संधि डायोड, बहुसंख्यक तथा अल्पसंख्यक आवेश वाहक, P-N संधि की अभिनति, P-N संधि डायोड अभिलक्षण वक्र, संधि डायोड में पश्च वोल्टता भंजन.जेनर डायोड,जेनर वोल्टता नियमन।
6. पावर सप्लाई ... 99-131
Power Supply
डायोड परिपथ की भार रेखाएँ, डायोड का दिष्टकारी के रूप में अनुप्रयोग, अर्द्ध-तरंग दिष्टकारी, पूर्ण-तरंग दिष्टकारी, अर्द्ध-तरंग दिष्टकारी तथा पूर्ण-तरंग दिष्टकारी की तुलना.सेत दिष्टकारी, फिल्टर परिपथ, शंट संधारित्र फिल्टर, पावर सप्लाई, नियमित पावर सप्लाई, जेनर डायोड से वोल्टता नियमन, भार रेखा के आधार पर जेनर वोल्टता नियमन की व्याख्या, जेनर नियमित पावर सप्लाई।
7. ट्रांजिस्टर ... 132-150
Transistors
ट्रांजिस्टर, द्वि-ध्रुवी सन्धि ट्रांजिस्टर, P-N-P ट्रांजिस्टर की कार्यविधि,N-P-N ट्रांजिस्टर की कार्यविधि, ट्रांजिस्टर उपयोग की विभिन्न विधाएँ तथा उनके अभिलाक्षणिक वक्र, धारा प्रवर्धन गुणांक, वोल्टता लाभ, विभिन्न विधाओं में ट्रांजिस्टर के गुणों की तुलना, ट्रांजिस्टर धाराओं के बीच सम्बन्ध ।
8. ट्रांजिस्टर अभिनति तथा तुल्य परिपथ ... 151-161
Transistors Basing And Equivalent Circuits
ट्रांजिस्टर अभिनति परिपथ, तापीय रन-अवे, अभिनति स्थायित्व व्यवस्था, ट्रांजिस्टर का ग्राफीय विश्लेषण, भार रेखा।
9. प्रवर्धक ... 162-206
Amplifiers
निम्न आवृत्ति ट्रांजिस्टर प्राचल/पैरामीटर, प्रवर्धक, प्रवर्धकों का वर्गीकरण, प्रवर्धक का सिद्धान्त, प्रवर्धकों के प्राचल, ट्रांजिस्टर प्रवर्धक का h-प्राचल सामान्य विश्लेषण, वैकल्पिक विधि : निम्न आकृतियों पर CB, CE तथा CC प्रवर्धकों का सीधा -प्राचल विश्लेषण-CB प्रवर्धक का h-प्राचल विश्लेषण, CE-प्रवर्धक का -प्राचल विश्लेषण,CC प्रवर्धकों का h-प्राचल विश्लेषण, एकल स्टेज CB, CE तथा cc ट्रांजिस्टर प्रवर्धकों का तुनात्मक अध्ययन, प्रवर्धकों का विरूपण, बहु-स्टेजी ट्रांजिस्टर प्रवर्धक, एकचरण RC-युग्मित CE ट्रांजिस्टर प्रवर्धक, द्वि-स्तरी प्रतिरोध-धारिता युग्मित ट्रांजिस्टर प्रवर्धक, पुन:निवेशी प्रवर्धक।
10.  दोलित्र ... 207-216
Oscillators
दोलित्र, दोलित्र का सिद्धान्त, दोलनों की बर्कहाउसन की कसौटी, दोलित्र के लिए आवश्यकताएँ, दोलित्रों का वर्गीकरण, दोलित्रों
में स्थायित्व, हार्टले दोलित्र।
11. प्रेक्षण तथा ग्रहण के मूल तत्व ... 217-243
Elements Of Transmission And Reception
प्रस्तावना, संचार तंत्र के अवयव, मॉडुलन तथा इसकी आवश्यकता, मॉडुलन का सिद्धान्त तथा प्रकार, आयाम मॉडुलन का मूल सिद्धान्त, तरंग रूप पर मॉडुलन गुणन का प्रभाव, ट्रांजिस्टर का आयाम मॉडुलन के रूप में उपयोग, एकल पार्श्व बैंड प्रसारण, आवृत्ति मॉडुलन, कला मॉडुलन,आयाम मॉडुलन (AM),आवृत्ति मॉडुलन (FM) तथा मॉडुलन(PM) में तुलना, संसूचन, वर्ग नियम संसूचक के रूप में P.N डायोड,P.N डायोड एक रैखिक संसूचक के रूप में, आयाम मॉडुलित प्रेषित्र, आयाम मॉडुलित अभिग्राही।
12. मापन उपकरण ... 244-252
Measuring Instruments
प्रस्तावना, मल्टीमीटर, मल्टीमीटर के अनुप्रयोग, मल्टीमीटर की सग्राहिता, कैथोड किरण दोलनदर्शी, कैथोड किरण नलिका. CRT की विक्षेप सुग्राहिता, CRO की क्रियाविधि, स्वीप वोल्टता, CRO के अनुप्रयोग।

विनामूल्य पूर्वावलोकन

Prev
Next
Prev
Next

अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book