PAWAN D. EL. Ed. Guide - IV Semester
लोगों की राय

बी एड - एम एड >> डी. एल. एड. शिक्षा दिग्दर्शन - चतुर्थ सेमेस्टर

डी. एल. एड. शिक्षा दिग्दर्शन - चतुर्थ सेमेस्टर

डॉ. गोविन्द शर्मा

प्रकाशक : साहित्य प्रकाशन प्रकाशित वर्ष : 2019
पृष्ठ :704
मुखपृष्ठ : पेपरबैक
पुस्तक क्रमांक : 2536
आईएसबीएन :0

Like this Hindi book 0

नवीन पाठ्यक्रम के अनुसार डी.एल.एड. द्वितीय वर्ष चतुर्थ सेमेस्टर हेतु गाइड

राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद् (S.C.E.R.T.) द्वारा अनुमोदित नवीन पाठ्यक्रम के अनुसार डी.एल.एड. द्वितीय वर्ष चतुर्थ सेमेस्टर हेतु गाइड

अनुक्रमणिका

आरम्भिक स्तर पर भाषा एवं गणित के पठन-लेखन तथा संख्या पूर्व सम्बोधों/क्षमताओं का विकास
1. पठन एवं लेखन का अर्थ व महत्व ... 1-9
2. वर्ण, शब्द एवं वाक्य ... 9-12
3. ध्वनि का अध्ययन ... 12-13
4. स्वरों,व्यंजनो तथा व्यंजन समूहों को सुनकर समझना ... 14-15
5. निर्देश, संदेश, कविता, कहानियों तथा लोक गीतों के भावों आदि को सुनकर समझना ... 16-17
6. हिन्दी व अंग्रेजी की ध्वनियों, स्वरों, व्यंजनों का शुद्ध उच्चारण ... 18-19
7. लिपि की सभी ध्वनियों के लिपि संकेतों को पहचानकर शुद्ध रूप में पढ़ना ... 20-23
8. पूर्ण विराम, अर्द्धविराम, प्रश्नवाचक तथा विस्मयसूचक चिह्नों को पहचानते हुए एवं विषयवस्तु का अर्थ ग्रहण करते हुए पढ़ना ... 23-26
9. विलोम, समानार्थी, तुकान्त, अतुकान्त तथा ध्वनियों वाले शब्दों को पहचानना एवं पढ़ना ...  27-30
10. लिपि संकेतों, अनुनासिक ध्वनियों के लिपि संकेतों, स्वर व्यंजन मात्राएँ तथा संयुक्त वर्गों के लेखन का ज्ञान ... 30-35
11. संख्यापूर्व तैयारी एवं सम्बोध ... 35-39
12. गणित संक्रियाएँ ... 39-44
13. इकाई, दहाई तथा सैकड़े का ज्ञान ... 45-47
14. भाषा शिक्षण की समस्याएँ ... 47-52
15. बहुविकल्पीय प्रश्न (सभी अध्यायों पर आधारित) ... 53-59
शैक्षिक प्रबन्धन एवं प्रशासन
1. संस्थागत नियोजन एवं प्रबन्धन का अर्थ, आवश्यकता एवं महत्व ... 60-63
2. विद्यालय प्रबन्धन का अर्थ, आवश्यकता, महत्व एवं क्षेत्र ... 64-67
3. भौतिक संसाधनों का प्रबन्धन ... 67-75
4. मानवीय संसाधनों का प्रबन्धन ... 75-81
5. वित्तीय प्रबन्धन ... 82-84
6. शैक्षिक प्रबन्धऩ ... 85-89
7. समय प्रबन्धन (समय-सारिणी का निर्माण व प्रयोग ... 89-94
8. पाठ्य सहगामी क्रियाकलापों का प्रबन्धन ... 94-98
9. सूचना एवं अभिलेखों का प्रबन्ध ... 98-102
10. प्राकृतिक आपदाएँ एवं आपदा प्रबन ... 103-109
11. प्रभावपूर्ण विद्यालय प्रबन्धन के सिद्धान्त ... 110-118
12. विद्यालय प्रबन्धन में विभिन्न अभिकर्मियों की भूमिका ... 118-125
13. विद्यालय प्रबन्धन में पर्यवेक्षण तन्त्र की भूमिका ... 125-129
14. प्रारम्भिक शिक्षा के विकास में विभिन्न अभिकरण एवं उनकी भूमिका ... 129-134
15. राज्य एवं जिला स्तर पर कार्य करने वाले अभिकरण ... 135-141
16. प्राथमिक शिक्षा का आधारभूत ढाँचा ... 141-145
17. बहुविकल्पीय प्रश्न (सभी अध्यायों पर आधारित) ... 146-157
विज्ञान
1. जैव विकास, पारिस्थितिकीय तन्त्र एवं उसके घटक ... 158-169
2. खनिज एवं धातु : अयस्क से धातु का निष्कर्षण, धातु एवं अधातु में अन्तर ... 169-180
3. आवर्त सारणी की सामान्य जानकारी-विद्युत ऋणात्मकता ... 181-188
4. स्थिर विद्युत आवेश, विद्युत धारा एवं चुम्बकत्व ... 189-196.
5. रक्त की संरचना, रक्त वर्ग तथा रक्त का आदानप्रदान ... 196-202
6. रक्त पीड़ित सामान्य रोगों की जानकारी ... 202-206
7. एड्स एवं हेपेटाइटिस-बी. ... 206-213
8. सुरक्षा एवं प्राथमिक उपचार ... 214-221
9. बहुविकल्पीय प्रश्न (सभी अध्यायों पर आधारित) ... 222-229
गणित
1. करणी, करणीगत राशि, करणी चिह्न तथा करणी का घातांक ... 230-231
2. वर्ग, वर्गमूल, घन, घनमूल की अवधारणा ... 232-235
3. किसी संख्या का वर्गमूल तथा दशमलव संख्या का वर्गमूल ज्ञात करना ... 236-239
4. पूर्ण घन संख्याओं तथा पूर्ण घन दशमलव संख्याओं का घनमूल ... 239-241
5. सम्भावनाओं (प्रायिकता) की सांख्यिकी तथा दैनिक जीवन से सम्बन्ध ... 242-243
6. अवर्गीकृत आँकड़ों की माध्यिका एवं बहुलक की गणना ... 243-249
7. त्रिकोणमिति (अनुपातों की अवधारणा तथा 09, 30°, 45°, 60° तथा 90° के कोणों के त्रिकोणमितीय अनुपात ज्ञात करना) ... 249-256
8. लम्बवृत्तीय बेलन तथा लम्बवृत्तीय शंकु की अवधारणा तथा इनका आयतन एवं सम्पूर्ण पृष्ठ ... 256-259
9. दो अज्ञात राशि वाले रेखीय समीकरण (युगपत समीकरण) ... 260-264
10. वर्ग समीकरण x2 = K के रूप वाले समीकरण का हल : ax2 + bx + c = 0 का हल (गुणनखण्ड विधि से) ... 264-266
11. समलम्ब का क्षेत्रफल एवं वृत्त की परिधि एवं व्यास में सम्बन्ध ... 266-268
12. वृत्त का क्षेत्रफल ... 269-270
13. चतुर्भुज का अर्थ उसके विकर्ण, संलग्न भुजाएँ, सम्मुख भुजाएँ, सम्मुख तथा बाह्य कोणों का बोध ... 270-272
14. चतुर्भुजों के प्रकार-वर्ग, आयत, समचतुर्भुज, समान्तर चतुर्भुज एवं समलम्ब चतुर्भुज : इनके प्रगुणों का प्रायोगिक सत्यापन ... 272-276
15. चक्रीय चतुर्भुज तथा चक्रीय बिन्दु की अवधारणा ... 277-279
16. बहुविकल्पीय प्रश्न (सभी अध्यायों पर आधारित) ... 280-287
सामाजिक अध्ययन
1. 1857 का प्रथम स्वाधीनता संग्राम तथा स्वतन्त्रता प्राप्ति हेतु प्रयास ... 288-292
2. धार्मिक तथा समाज-सुधार आन्दोलन ... 292-297
3. भारत के राष्ट्रीय आन्दोलन ... 298-304
4. पूर्ण स्वतन्त्रता की माँग-जिन्ना की चौदह शर्ते, सविनय अवज्ञा आन्दोलन, प्रथम गोलमेज सम्मेलन, गाँधी-इरविन समझौता, द्वितीय गोलमेज सम्मेलन, पूना पैक्ट, भारत छोड़ो आन्दोलन तथा स्वतन्त्रता की प्राप्ति ... 304-308
5. भारतीय राष्ट्रीय आन्दोलन में प्रमुख उदार एवं उग्र राष्ट्रवादी नेताओं का योगदान ... 308-310
6. जलवायु एवं मौसम में अन्तर एवं जलवायु को प्रभावित करने वाले तत्व ... 311-314
7. भारत के प्राकृतिक प्रदेश-बनावट, जन-जीवन, कृषि, उद्योग-धन्धे, प्रमुख राज्य व नगर ... 314-318
8. उत्तर प्रदेश के प्राकृतिक प्रदेश-विस्तार, प्रमुख नगर, जनजीवन, उत्तर प्रदेश की अनुसूचित जातियाँ एवं जन-जातियाँ ... 319-322
9. उत्तर प्रदेश की खनिज सम्पदा, शक्ति के साधन, कृषि और सिंचाई एवं आयात-निर्यात ... 323-328
10. उत्तर प्रदेश की सांस्कृतिक विरासत-पुरातात्विक विरासत, कलाएँ, मेले व त्यौहार, तीर्थस्थान, विरासत का संरक्षण ... 328-333
11. पर्यावरण प्रदूषण-अर्थ, प्रकार व रोकथाम ... 334-340
12. संयुक्त राष्ट्रसंघ ... 341-345
13. जनगणना ... 345-348
14. नागरिक सुरक्षा संगठन ... 349-350
15. सरकार की विभिन्न योजनाएँ ... 350-356
16. गैर-सरकारी संगठन (N.G.O.) ... 356-359
17. विविधता में एकता तथा राष्ट्रीय एकता के प्रतीक ... 359-361
18. आतंकवाद, साम्प्रदायिकता तथा जातिवाद, अनुसूचित जाति  एवं जनजातियों के संरक्षण हेतु संवैधानिक प्रावधान, भारत के शांति प्रयास-गुटनिरपेक्ष नीति, पंचशील के सिद्धांत, संयुक्त राष्ट्र संघ के माध्यम से भारत के शांति प्रयास ... 361-366
19. भारतीय अर्थव्यवस्था के समक्ष चुनौतियाँ ... 366-370
20. भारत में खाद्य सुरक्षा एवं सार्वजनिक वितरण प्रणाली ... 371-373
21. भूमण्डलीकरण तथा सांख्यिकी-परिचय, आँकड़ों का प्रदर्शन व महत्व, समान्तर माध्य, माध्यिका, बहुलक ... 374-379
22. बहुविकल्पीय प्रश्न (सभी अध्यायों पर आधारित) ... 380-388
हिन्दी
1. अनिवार्य संस्कृत में अनुस्वार, हलन्त तथा विसर्ग इत्यादि का ध्यान रखते हुए शुद्ध उच्चारण, वाचन एवं लेखन ... 389-394
2. पाठ्य-पुस्तक के अतिरिक्त अन्य पाठ्यवस्तु को पढ़ना और समझना ... 394-396
3. अनुच्छेदों के शीर्षक लिखना ... 396-398
4. उच्च प्राथमिक स्तर की पाठ्य-पुस्तकों के कवियों एवं लेखकों का सामान्य परिचय ... 398-418
5. अनिवार्य संस्कृत के पाठों का अध्ययन, नीति श्लोकों को कण्ठस्थ कराना ... 398-418
6. कठिन शब्दों का संकलन एवं वाक्य प्रयोग ... 421-422
7. बहुविकल्पीय प्रश्न (सभी अध्यायों पर आधारित) ... 423-425
English
1. Different Approaches'and Methods of Teaching English ... 426-434
2. Complex and Compound Sentence ... 434-437
3. Commands and Requests ... 437-438
4. Tenses : Present, Past & Future ... 438-444
5. Preposition ... 445-449
6. Conjunction ... 449-452
7. Description of Picture or Objects ... 452-457
8. Letters and Applications ... 457-464
9. Filling up Forms ... 464-472
10. Lesson Plan ... 472-476
11. Objective Type Questions (based on all chapters) ... 476-480
शांति शिक्षा एवं सतत विकास
I. शांति शिक्षा : अवधारणा, आवश्यकता, मूल्य एवं कौशल ... 481-504
2. व्यक्तित्व एवं सामाजिक विकास ... 504--516
3. सहपाठी के आन्तरिक सम्बन्धों की समझ एवं आपसी सम्बन्धों का विकास ... 517-522
4. चरित्र एवं नैतिक शिक्षा, समाज अनुकूल विकास, बालक के चरित्र निर्माण में परिवार तथा शिक्षक की भूमिका ... 523-532
5. व्यवहारवाद एवं व्यवहार ... 533—543
6. हिंसा-प्रकार, मोर्चे, खतरा, मीडिया और हिंसा, विवादों का शांतिपूर्ण हल ... 543-556
7. भारत में शान्ति हेतु दार्शनिक चिन्तन, गाँधी दर्शन और शान्ति ... 557-561
8. तनाव प्रबन्धन तथा आन्तरिक शान्ति ... 561-570
9. शांति मूल्य-मानवाधिकार और लोकतन्त्र, भारत में धार्मिकसहिष्णुता एवं राष्ट्रीय एकता,
 वैश्वीकरण और शांति ... 571-578
10. सतत विकास ... 579-584
11. बहुविकल्पीय प्रश्न (सभी अध्यायों पर आधारित) ... 585-592 

विनामूल्य पूर्वावलोकन

Prev
Next

अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book